Breaking News

Search This Blog

चुनाव में महिलाओं के लिए ‘सखी मतदान केंद्र’!

चुनाव में महिलाओं के लिए ‘सखी मतदान केंद्र’!

चुनाव में महिलाओं के लिए ‘सखी मतदान केंद्र’!

लोकसभा चुनाव में महिला मतदाताओं को अधिक से अधिक संख्या में मताधिकार का प्रयोग करने को प्रोत्साहित करने के लिए चुनाव आयोग ने उनके लिए अलग मतदान केंद्रों की व्यवस्था की है. हर निर्वाचन क्षेत्र में 'महिलाओं द्वारा संचालित मतदान केंद्र' बनाए जाएंगे. इन मतदान केंद्रों को 'सखी मतदान केंद्र' नाम दिया जाएगा. केंद्रीय चुनाव आयोग ने इस बारे में निर्देश जारी किए हैं. इन मतदान केंद्रों में महिला पुलिस, महिला चुनाव अधिकारी और महिला कर्मचारियों को तैनात किए जाने की बात कही गई है. 

2014 की मतदाता सूची में महिला मतदाताओं का अनुपात 1000 पुरुषों पर 889 था. इस साल यह अनुपात 1000 पुरुषों पर 911 महिला मतदाताओं का है. पिछले चुनाव के मुकाबले बढ़ा महिलाओं का अनुपात  बता दें कि 2014 की तुलना में महिला मतदाताओं का अनुपात 889 से बढ़कर 911 हो गया है। 2009 और 2014 के लोकसभा चुनाव के लिए मतदाता पंजीकरण में महिला मतदाताओं की संख्या पुरुष मतदाताओं की अपेक्षा कम थी लेकिन 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए महिला मतदाताओं की संख्या में वृद्धि दर्ज की गई है। 2011 की जनगणना के अनुसार अनुपात 1000 पुरुषों पर 925 महिलाओं का था। 2014 की मतदाता सूची में महिला मतदाताओं का अनुपात 1000 पुरुषों पर 889 था। इस साल यह अनुपात 1000 पुरुषों पर 911 महिला मतदाताओं का है। 

No comments